तेरे करीब आने से

मैं खुद को भुल जाती हुं, तेरे करीब आने से की मैं मैं नहीं रहती, तेरे मुझको बुलाने पे मेरी आँखों की हया, ओर धड़कनों की सरगम कुछ गुनगुनाती है, तेरी सुरत दिखाने पे तलब मुझको युं तेरी है, की सीने से मैं लग जाऊ मैं दुनिया भुला दुं गी, तेरे महोबत्त दिखाने पे ना... Continue Reading →

Intjar Rhega Hume

Intjar rhega hume ! Tumhare ek dfa Ane ka Vo mithi bato ka Hwa sang lhrane ka ! Han Intjar rhega hume ! Tumhara ahsash me jine ka Sang sur gane ka Najdikiya bdhane ka ! Han Intjar rhega hume ! Tumhare pass aane ka Pyar Mhobat to sukun Or tumhari aankho me kho jane... Continue Reading →

धडक़न/Flutter

मैं सोच सोच में सोच से हारी तुमने कुछ सोचा ही नहीं मैं साथ रहुं या दुर कहीं तुमने मुझसे पुछा ही नहीं मैं सहमी सी कुछ बदली सी की तुझको तो कुछ पता नहीं मैं आदत थी कब बदल गई तुम्हें मालूम था मुझे पता नहीं मैं सोचूँ की सब ख़त्म हुआ पर हुआ... Continue Reading →

एक तरफ़ा प्यार नहीं कम्बख्त आदत है

On demand Kuch jyda hi likh diya tha humne apne ishq ibadat pe Chlo ab thora likhte Hain bechain dil ki halat pe एक तरफ़ा प्यार नहीं कम्बख्त आदत है प्यार के नाम पे जुल्म सहने की इबादत है जो तू रोज रोज आ जाता है मेरी कहानी में रोज रोती हु मै फ़िर अपनी... Continue Reading →

एक तरफ़ा प्यार

एक तरफ़ा प्यार मेरा जो तुम बाँट नहीं सकते पल पल के मेरे ख्वाबो को तुम रोक नहीं सकते मै इश्क़ तेरे में पागल हु तू मुझमें ज़िन्दा है मेरे इश्क़ उमर क्या बोलू तू रूह में बसता है काजल आँखों का संभाले ना सम्भले जो मैं दरिया हु महोबत का मुझे बस तुझमें ही... Continue Reading →

जो तुम आजकल बिन बोले हमसे कुछ इस तरह बाते करते हो

जो तुम आजकल बिन बोले हमसे कुछ इस तरह बाते करते हो जैसे कंगना हाथों में चुड़ियाो से पहली सौगात करते हों जो हर पल यु मेरे इर्द गिर्द सेे इतनी बार गुजरते हो तकल्लुफ नहीं है लफ्जो को आँखों में जो सब पढ़ते हो दिल जोर जोर से धड़के है जब तुम गुस्ताख़ी करते... Continue Reading →

Ha ye ishq hai

Jab Dil Mein Ho Hazaaron gum-e-raj Siye hotho se na hoti ho lafj-e-bat Andhero me beth jagi ho sari rat Ha ye ishq hai ….ishq hi hai Hatho me hatho ki hasrat-hajar Dilbar sang gungunane ki aadat-e-khumar Aankhon hi Aankhon me ghula shararat-e-pyar Ha to ye ishq hai …. ishq hi hai Chhandni rato me... Continue Reading →

Aao phir mujko svikar kro

Mere aansu rok na pau Aisi koi bat nhi Bs jhalak jate Hain yad me teri Or koi gustakhi nhi Bankar pagl bhagi thi main Tere piche jivan me Hans hans kr sb gir pdte the Meri ishq-e-ibadat pe Har dua ka phla sajda Bs tujko hi chaha tha Prem-amar kr jau apna Bas tumse... Continue Reading →

WordPress.com.

Up ↑